पत्थरबाजों की हरकत की कीमत चुका रहे हैं देहरादून के कश्मीरी छात्र

News18 इंडिया

देहरादूनः जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमले में 44 जवान शहीद होने से भारत के हर एक व्यक्ति के मन में आक्रोश है। हर भारतिय देश के उन वीर शहीदों की शहादत का बदला चाहता है। पर कई लोग आतंकी हमले की आड़ में हुड़दंग करते नजर आ रहे है। भारत के ही कई ऐसे राज्य है जहाँ बदले की भावना से लगभग हर कश्मीरी व्यक्ति और छात्र को देखा जा रहे है। तो वहीं कई लोग उन कश्मीरी व्यक्तियों और छात्रों की मदद के लिए आगें बढ़ रहे है। जिनमें पंजाब का एनजीओ सबसे ज्यादा मदद कर रहा है।

पंजाब के इस एनजीओ ने जम्मू-कश्मीर स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन (JKSO) से संपर्क कर मदद करने के लिए अपने हाथ आगें बढाया और कश्मीरी छात्रों का देहरादून से मोहाली जाने का इंतजाम किया । कश्मीर जाने के लिए करीब 250 छात्र तैयार करे जिनकी यात्रा का इंतजाम किया गया है। खालसा एड इंटरनेशनल के एमडी अमरप्रीत सिंह ने बताया कि ‘जब मैंने देखा कि JKSO के सदस्य पुलवामा हमले के बाद निशाने पर आए छात्रों की मदद कर रहे हैं तो मैं उनसे जुड़ गया। हम उनके आने-जाने, रहने और खाने का इंतजाम कर रहे हैं’ ।

कश्मीरी छात्रों को देहरादून से कश्मीर पहुंचाने के लिए कई गाड़ियों का इंतजार किया जा रहा है। साथ ही रहने और खाने की भी सुविधा दी जा रही है। पुलवामा हमले के बाद से कई कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाया जा रहा है। तो वहीं देहरादून में कुछ कश्मीरी छात्र हाउसिंग सोसायटियों में छिपे हुए हैं तो कुछ छात्रों ने गुरुद्वारे में शरण ली है। खबरों के अनुशार JKSO ने अभी तक देहरादून में रह रहे करीब 800 छात्रों की मदद की है। कुछ लोगों को जम्मू भेजा गया है और कुछ लोगों को मोहाली में सुरक्षित जगहों पर रखा गया है। भारत में इस समय हर व्यक्ति आक्रोशित है।