सट्टा बाजार दे रहे हैरान कर देने वाले आंकड़े, इस बार ऐसा रह सकता है परिणाम

satta-bazar-modi-rahul
प्रतीकात्मक चित्र

राजस्थान में विधानसभा चुनावों को लेकर माहौल एकदम ही अलग है। यहां सट्टा बाजार तमाम कयासों और सर्वे को धत्ता बताते हुए कुछ अलग ही कहानी कह रहा है। राजस्थान विधानसभा चुनावों को लेकर यदि सट्टा बाजार की मानें तो यहां अभी फिलहाल कांग्रेस की लहर चल रही है। सटोरियों का दावा है कि कांग्रेस को यहां से करीब 130 सीटें मिलने की संभावना बन रही है जबकि भाजपा को महज 50 सीटें मिलने के दावे ठोके जा रहे हैं। सट्टा बाजार के दावों में से सबसे हैरान करने वाली बात तो ये है कि यहां तीसरे मोर्चे को तो बिलकुल ही तवज्जों नहीं दी जा रही है। सटोरियों के लिए तीसरा मोर्चा कोई मायने नहीं रख रहा है और वो केवल अपना दांव यहां की प्रमुख पार्टियों बीजेपी और कांग्रेस पर ही खेलेंगे।

 

3 से 5 हजार करोड़ रूपए का लग सकता है सट्टा

 

इस बार राजस्थान विधानसभा चुनाव में सट्टा बाजार काफी गर्म रहने वाला है जिसका आंकड़ा तीन से पांच हजार करोड़ रूपए तक जाने की संभावना जताई जा रही है। चुनावी सट्टों का गढ़ कहे जाने वाले मारवाड़ क्षेत्र में सटोरिये कांग्रेस पर अपना दांव खेलने की बात कर रहे हैं। इसके अलावा शेखावाटी क्षेत्र में भी सटोरिए चुनावों को लेकर अभी से सक्रिय हो गए हैं और टिकट वितरण से पहले जोड़ तोड़ की गणित शुरू हो चुकि है।

 

टिकट बंटवारों के बाद बदल सकता है आंकलन

राजस्थान में सट्टा बाजार के दावे दोनों पार्टियों के टिकट वितरण की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद बदल सकते हैं। गौरतलब है कि अभी दोनों ही पार्टियों में टिकटों को लेकर मंथन का दौर जारी है वहीं अभी प्रचार प्रसार का दौर भी धीमा ही पड़ा हुआ है। ऐसे में बाजार के आंकड़े इस बात पर भी निर्भर करते हैं कि प्रचार में कौनसी पार्टी को जनता का ज्यादा समर्थन मिलता है और किस तरह यहां पर चुनावी माहौल बनाया जाता है।