विजय हजारे ट्रॉफी: राजस्थान से मैच जीतने में तमिलनाडु के निकल गए पसीने, जानें पूरा हाल

cricket
cricket

नई दिल्ली: क्रिकेट फैंस रविवार को भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले सुपरहिट मैच का इंतजार था। लेकिन उससे पहले भारतीय फैंस को घरेलू क्रिकेट में रोमांचक मैच देखने को मिला। विजय हजारे ट्रॉफी में तमिलनाडु ने राजस्थान पर एक विकेट से हराया। इस मुकाबले ने दिखा दिया कि भारतीय घरेलू क्रिकेट का स्तर कितना ऊंचा है और खिलाड़ी किस जज्बें के साथ मुकाबला खेलते हैं।

सूरजपाल अम्मू ने कहा स्वाभिमान के नाम पर समाज को गुमराह किया गया।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी राजस्थान की शुरुआत बेहद खराब रही। सलामी बल्लेबाज अमित कुमार गौतम बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। इसके बाद भी तमिलनाडु के गेंदबाजों ने राजस्थान के बल्लेबाजों के नाक पर दम बनाए रखा और  66 रनों पर 7 बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। एक वक्त ऐसा लग रहा है कि राजस्थान के बल्लेबाज 100 रनों का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाएंगे लेकिन तेजविंदर सिंह की 55 रनों की पारी ने टीम के स्कोर को 133 पर ला दिया। राजस्थान की पूरी टीम 37.1 ओवर्स में सिमट गई। तमिलनाडु की ओर से गेंदबाजी में सबसे ज्यादा रवि श्रिनिवाश्न साईकिशोर ने 5 विकेट अपने नाम किए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी तमिलनाडु की शुरुआत अच्छी नहीं रही। मात्र 10 रन के अंदर उनके तीन विकेट गिर गए थे। लक्ष्य छोटा जरूर था लेकिन राजस्थान के गेंदबाजों ने मुकाबले को एक पल के लिए अपने से दूर नहीं जाने दिया। 

 

तमिलनाडु की टीम 113 रनों पर 9 विकेट खो चुकी थी और राजस्थान की जीत पक्की लग रहा थी। तमिलनाडु के 10वें नंबर के बल्लेबाज मोहम्मद ने अपनी बल्लेबाजी से मैच का रुख ही बदल दिया। उन्होंने 22 रनों पारी खेलकर टीम को 1 विकेट से जीत दिला दी। राजस्थान की ओर से सबसे ज्यादा राहुल चहर ने 3 विकेट अपने नाम किए। वहीं तमिलनाडु की ओर से बल्लेबाजी में कौशिक गांधी 18, बाबा अपराजित 17,अनिरुद्ध 40 और शाहरुख खान ने 20 रनों की पारी खेली।