राजस्थान में कश्मीरी छात्रों की सुरक्षा बढ़ाई गई, जयपुर में 30 कश्मीरियों को लाया गया थाने

पुलवामा आतंकी घटना के बाद से कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक देशवासियों में रोष व्याप्त है। लोगों का गुस्सा देखते हुए राजस्थान में कश्मीर से आकर पढ़ाई करने वालों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। प्रदेश के जयपुर,उदयपुर स्थित निजी यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों को एहतियात के तौर पर हॉस्टल या कॉलेज कैंपस से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दे दी गई है।

रविवार को राजधानी के जयपुर स्थित शास्त्री नगर इलाके से ​के​टरिंग का काम करने वाले 30 कश्मीरी कामगारों को पुलिस थाने लेकर आया गया। शास्त्री नगर थाना पुलिस ने कश्मीरियों से उनके पहचान पत्र समेत अहम दस्तावेजों की तस्दीक की। बताया गया है कि ये सभी लोग एक ही इलाके में एक ही घर पर किराए से रह रहे थे और शादी पार्टियों में केटरिंग का काम करने कश्मीर से यहां आए हुए थे।

सूत्रों के हवाले से ये भी जानकारी मिली है कि पुलिस इन लोगों को एहतियात की तौर पर संदिग्ध गतिविधियों में लिप्त होने पर गिरफ्तारी भी कर सकती है। गौरतलब है कि राजधानी जयपुर स्थित निम्स यूनिवर्सिटी में पुलवामा में हुए आतंकी हमले की खबरों के बाद 4 कश्मीरी छात्राओं द्वारा केक काटकर जश्न मनाया गया था। इस घटना के बाद शहरवासियों समेत प्रदेशवासियों में और भी ज्यादा रोष व्याप्त है।

बता दें कि कश्मीर से काफी छात्र और काम की तलाश में आने वाले लोग यहां काफी संख्या में मौजूद है। खासतौर पर सर्दी के मौसम में गर्म कपड़े बेचने आने वाले कश्मीरी पूरी सर्दी के मौसम में अलग अलग शहरों में अपना धंधा करने के लिए मकान किराए पर लेकर रहने लग जाते हैं। फिलहाल लोगों में गुस्सा होने के कारण पुलिस ने इनकी सुरक्षा बढ़ा दी है।