प्रियंका गांधी नहीं लड़ेंगी लोकसभा चुनाव, कांग्रेस का ये स्टार चेहरा नहीं करेगा प्रचार

देश में चुनावी बिगुल बज चुका है और चुनावी सरगर्मियां भी शुरू हो चुकि हैं। इसी के साथ कांग्रेस के खेमे से सबसे बड़ी खबर निकलकर सामने आई है। प्रियंका गांधी वॉड्रा ने इस बार लोकसभा चुनाव नहीं ल़ड़ने का फैसला किया है। इसके अलावा प्रियंका कांग्रेस के लिए कोई चुनाव प्रचार भी नहीं करेंगी। सूत्रों के अनुसार प्रियंका के साथ ही एक और बड़ा नाम भी शामिल है जो इस बार कांग्रेस के लिए चुनाव प्रचार प्रसार का हिस्सा नहीं होंगे। देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को भी पार्टी ने स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल नहीं किया है। हालांकि ये कहा नहीं जा सकता कि मनमोहन सिंह ने खुद प्रचार अभियान में शामिल नहीं होने का मन बनाया है, या उन्हें कांग्रेस ने साइडलाइन कर दिया है।

क्या है मायने

अचानक से प्रियंका गांधी के कांग्रेस में सक्रिय होने के बाद कहा जा रहा था कि उनके चेहरे पर पार्टी उत्तर प्रदेश में सीटें हासिल कर सकती हैं। मगर प्रियंका के चुनाव नहीं लड़ने से पूरे देश और पार्टी में एक मैसेज भी जाएगा। माना जा रहा है कि प्रियंका अपने छोटे भाई राहुल के लिए एक मार्गदर्शक के रूप में साथ रहेंगी। चूंकि कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी रायबरेली से चुनाव लड़ने जा रही हैं ऐसे में प्रियंका पर्दे के पीछे अपना किरदार निभा सकती हैं। बता दें कि प्रियंका के पति रॉबर्ट वाड्रा ने भी अभी हाल ही में राजनीति में कदम रखने की इच्छा जताई थी।

क्या कांग्रेस को होगा नुकसान

प्रियंका गांधी के चुनाव नहीं लड़ने से कांग्रेस को कोई ज्यादा नुकसान होने की बात अभी कही नहीं जा सकती। यदि प्रियंका भी चुनावी मैदान में उतर जातीं तो विपक्ष ​एक बार फिर से कांग्रेस द्वारा परिवारवाद को बढ़ावा देने का मुद्दा उठा सकता था। वैसे राजनीतिक हलकानों में प्रियंका की एंट्री से ही थोड़ी हलचल मच गई थी। ऐसे में उन्हें आगे अब एक किंगमेकर की भूमिका में देखा जा सकता है।