हिंसा कर भाजपा ने शुरू की अहिंसा दिवस की शुरुआत: राहुल गांधी

kishaan delhi
kishaan delhi

नई दिल्ली:ऋण माफी और ईंधन के दामों कटौती सहित अपनी कई दूसरी मांगों को लेकर दिल्ली की ओर बढ़ रहे किसानों को दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर मंगलवार को रोक दिया गया।पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछार की और आंसू गैस के गोले छोड़े। इस मामले पर विपक्ष ने सरकार को एक बार फिर आड़े हाथ लिया है।कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘किसान क्रांति यात्रा’ को रोकने के लिए किसानों पर कथित तौर पर बल प्रयोग किए जाने को लेकर मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि ‘किसानों की बर्बर पिटाई’ से भाजपा ने अपने गांधी जयंती समारोह की शुरुआत की है।

गांधी ने ट्वीट किया, ‘विश्व अहिंसा दिवस पर BJP का दो-वर्षीय गांधी जयंती समारोह शांतिपूर्वक दिल्ली आ रहे किसानों की बर्बर पिटाई से शुरू हुआ।’ उन्होंने कहा, ‘अब किसान देश की राजधानी आकर अपना दर्द भी नहीं सुना सकते!’

Image result for rahul gandhi

गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ किसान नेताओं की बैठक हुई। बैठक खत्म होने के बाद मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा, “बैठक में किसानों के ज्यादातर मुद्दों को लेकर सहमति बन गई है। इस बारे में अब मैं किसानों से मिलकर बात करने जा रहा हूं।”वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरवील ने किसानों को दिल्ली में दाखिल होने से रोके जाने पर कहा, “दिल्ली सबकी है। किसानों को दिल्ली में आने से नहीं रोका जा सकता। किसानों की मांगें जायज हैं। उनकी मांगें मानी जाएं।”

किसानों पर किए गए लाठीचार्ज के बाद मीडिया से बात करते हुए भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष राकेश टिकैत ने कहा, “किसानों पर लाठीचार्ज करने का कदम गलत है। हमारे नेता गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ बैठक कर रहे हैं। बैठक खत्म होने के बाद आगे का फैसला लेंगे।”