स्वाईन फ्लू तेजी से पसार रहा है अपने पैर, सरकार नहीं दे रही ध्यान

एक सरकारी अधिकारी ने बताया था कि 14 अक्टूबर तक सामने आए 1,793 मामलों में से महाराष्ट्र में 217 मौत का आंकड़ा दर्ज किया गया

देश में स्वाइन फ्लू के कारण सैकड़ों लोगों की जान जा चुकी है और अभी भी ये आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. स्वाइन फ्लू का सबसे अधिक असर महाराष्ट्र में देखने को मिल रहा है. यहां स्वाइन फ्लू के कारण सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है. स्वाइन फ्लू के कारण इस साल 542 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें से करीब 50 प्रतिशत मामले महज महाराष्ट्र से सामने आएं हैं.

इस पर महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि प्रदेश में इस साल जनवरी से अक्टूबर के बीच स्वाईन फ्लू के कारण 268 लोगों की मौत हो चुकी है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इसके 32 मरीजों को वेंटिलेटर पर रखा गया है. विभाग ने स्वाईन फ्लू के मरीजों के इलाज के लिए दिशा निर्देश भी जारी किए हैं.

कुछ दिन पहले एक सरकारी अधिकारी ने बताया था कि 14 अक्टूबर तक सामने आए 1,793 मामलों में से महाराष्ट्र में 217 मौत का आंकड़ा दर्ज किया गया. इसके बाद राजस्थान का नंबर है जहां इसी समयावधि में एच1एन1 के 1,912 मामलों में से 191 लोगों की मौत हुई. इसके बाद गुजरात में 1,478 मामलों में से 45 लोगों के मरने की खबर है. देश में इस साल स्वाइन फ्लू के 6,800 से ज्यादा मामले सामने आए हैं जबकि पिछले साल यह आकंड़ा 38,811 था.