तो क्या सच में योगी आदित्यनाथ ने नहीं कहा था बजरंगबली को दलित, भाजपा ने ऐसे पेश की सच्चाई

Yogi-Adityanath
Yogi-Adityanath

कांग्रेस ने आदित्यनाथ की रैलियों पर रोक लगाने के लिए निर्वाचन आयोग को एक शिकायती पत्र भी लिखा है

योगी आदित्यनाथ के हनुमान जी को दलित कहने पर हो रहे विरोध के बीच अब भाजपा ने अपनी ओर से सफाई दी है। भाजपा ने सभा से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर डाला है जिसमें योगी आदित्यनाथ का के पूरे भाषण की रिकॉर्डिंग है। भाजपा ने कहा है कि आदित्यनाथ के भाषण को गलत तरीके से पेश किया गया है।

बता दें कि योगी आदित्यनाथ इन दिनों राजस्थान में भाजपा के लिए प्रचार करने में जुटे हुए हैं जहां उन्होनें अलवर में एक सभा को संबोधित किया। योगी ने सभा में भगवान हनुमान को दलित और वंचित कहा जिसके बाद उनकी खूब आलोचना हो रही है।

वीडियो में आदित्यनाथ कह रहे हैं कि ‘बजरंगबली एक ऐसे लोक देवता हैं, जो स्वंय वनवासी हैं, निर्वासी हैं, दलित हैं, वंचित हैं भारतीय समुदाय को उत्तर से लेकर दक्षिण तक पुरब से पश्चिम तक सबको जोड़ने का काम बजरंगबली करते हैं’। भाजपा के स्टार प्रचारकों में से एक उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस बयान को कांग्रेस और अन्य दलों ने आड़े हाथों लिया है। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा के प्रचारक ऐसे बयान देकर जातिवाद को बढ़ावा देने में लगी है।

वीडियो भी देखें:

कांग्रेस ने आदित्यनाथ की रैलियों पर रोक लगाने की निर्वाचन आयोग से की मांग

इधर, कांग्रेस ने योगी आदित्यनाथ की राजस्थान में रैलियों पर रोक लगाने की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को लिखित में एक शिकायत देकर राजस्थान में योगी आदित्यनाथ के चुनावी दौरों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। शिकायत में कांग्रेस ने योगी पर राजस्थान में चुनाव प्रचार के दौरान जनसभाओं में भड़काऊ भाषण देकर नफरत फैलाने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने योगी पर चुनाव आचार संहिता की धज्जियां उड़ाने का आरोप भी लगाया है।