जयपुर : अगर प्रशासन नहीं देगा रैली की अनुमति तो आप जाएगी कोर्ट की शरण में

रैली में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल आने वाले थे

राजस्थान में आम आदमी पार्टी की ईकाई ने कहा है कि अगर स्थानीय प्रशासन 28 अक्टूबर को होने वाली उनकी आगामी रैली के लिए अनुमति नहीं देता है तो वह कोर्ट जायेंगे. इस रैली में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविन्द केजरीवाल आने वाले थे और आगामी विधानसभा चुनावों के लिए प्रचार करने वाले थे.

आम आदमी पार्टी की ओर से जारी बयां में कहा गया है कि पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविन्द केजरीवाल की 28 अक्टूबर को जयपुर में होने वाली रैली की स्वीकृति देने से इंकार कर दिया गया है. जबकि पार्टी ने इस रैली को लेकर तमाम तैयारियां की थीं.

पुलिस उपायुक्त (पूर्व) के अनुसार आचार संहिता के चलते सभा कि अनुमति नहीं दी जा सकती. आपको बता दें कि राजस्थान विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी अपने 200 उम्मीदवार उतारने की बात कर चुकी है.पार्टी के एडवोकेट इंद्रजीत कथूरिया बताया कि इस चुनावी सभा कि अनुमति के लिए 16 अक्टूबर को आवेदन किया गया था, अब आखिरी वक्त पर अनुमति नहीं देना प्रशासन की मंशा पर संदेह पैदा करता है. इस प्रकार से किसी एक पार्टी को अनुमति नहीं देना, कानून का खुला उलंघन है.

पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी टी.एन. शर्मा ने बताया कि अगर अरविंद जी की सभा को अनुमति नहीं दी जाती है तो हमें न्यायालय की शरण लेनी होगी तथा पार्टी इस मुद्दे को आमजन तक लेकर जाएगी एवं प्रदेश व्यापी आंदोलन किया जाएगा.