टिकटों को लेकर वसुंधरा शाह के बीच ‘पंगा’

0

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और वसुंधरा राजे टिकट वितरण को लेकर एकमत होत हुए नहीं दिखाई दे रहे हैं। बीजेपी की राजनीति के तारणहार माने जाने वाले अमित शाह ने राजस्थान में भाजपा संगठन को कहा है कि पार्टी केवल उन्हीं को टिकट दें जो जीतने का माद्दा रखते हों वहीं राजस्थान में भाजपा की मुखिया वसुंधरा राजे ने फिर से सबको साथ लेकर चलने के लिए कहा है। यहां वसुंधरा का साथ चलने से मतलब ये है कि जो नेता उनके साथ लंबे समय से सक्रिय हैं उनकी अनदेखी नहीं की जा सकती है।

इस बार भाजपा के आलाकमान ने राजस्थान में भाजपा नेताओं की ग्राउंड रिपोर्ट तैयार की है जिसमें विधायकों सांसदों का फीडबैक लिया गया है। इसके आधार पर अभी कुछ ही दिनों पहले आलाकमान ने कहा था कि पार्टी केवल जिताउ उम्मीदवारों को टिकट देगी और ऐसे में करीब 60 विधायकों को ही फिर से टिकट दिए जाने पर विचार किया जा रहा वहीं प्रदेश संगठन चाहता है कि उनके 90 से ज्यादा विधायकों को फिर से टिकट दिया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि राजस्थान में भाजपा के करीब 160 विधायक हैं और आलाकमान पार्टी में किसी तरह की अंदरूणी विरोधी लहर को रोकने के लिए 100 से ज्यादा विधायकों के पत्ते काटना चाहती है और नए चेहरों को मौका देने पर विचार कर रही है।

 

शाह का आॅर्डर: एक बार फिर से करो विचार

अमित शाह ने प्रदेश संगठन से तय किए गए नामों पर फिर से चर्चा करने को कहा है​ जिनमें प्रदेश भाजपा के बड़े नेताओं की राय ली जाएगी। शाह द्वारा दी गई गाइडलाइन के मुताबिक प्रदेश संगठन को हर सीट से जातिगत आंकड़े उठाने के लिए कहा गया है। वहीं 2013 में हुए मतदान के रूख की इन डैप्थ स्टडी को भी ध्यान में रखा जाएगा। पार्टी के पास हर क्षेत्र की राजनीतिक और जातिगत स्थिती होनी चाहिए और यदि किसी का टिकट काटा जाता है तो उस व्यक्ति और उसके समर्थकों को मनाने की जिम्मेदारी भी पार्टी के बड़े नेताओं पर ही होगी।

 

इन दिग्गजों को दी गई है क्षेत्रानुसार जिम्मेवारी

पार्टी ने टिकट मंथन के लिए केंद्रीय और राज्य के कुछ दिग्गजों का एक पैनल तैयार किया है जो नामों पर दोबारा से चर्चा करेगा। केंद्रीय मंत्रीमंडल से गजेंद्र सिंह शेखावत को बीकानेर, वी.चंद्रशेखर को जयपुर,ओम माथुर को अलवर,निहालचंद मेघवाल को टोंक,अर्जुनराम मेघवाल को नागौर, ओम बिड़ला को भरतपुर एवं राज्य में मंत्री राजेंद्र राठौड़ को गंगानगर क्षेत्र का कार्यभार सौंपा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here